विशाल लक्ष्य, अतुलनीय उपलब्धि

भारत ने आज COVID-19 टीकों की 100 करोड़ खुराक देने की उपलब्धि हासिल की है। 21 अक्टूबर को देश में दी जाने वाली वैक्सीन की कुल खुराक 100 करोड़ को पार कर गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने एक ट्वीट में देश को यह उपलब्धि हासिल करने के लिए बधाई दी और कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सक्षम नेतृत्व का परिणाम है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसा...

Seema verma

सीमा की एक “रुपया मुहिम” से 33 बच्चों की फीस जमा। 12वी तक की शिक्षा की ली ज़िम्मेदारी।

बिलासपुर: बिलासपुर जिले की सीमा वर्मा ने एक रुपया मुहिम शुरु करके लोगों में साबित कर दिया कि पैसे की क्या अहमियत होती है। सीमा ने यह मुहिम 10 अगस्त 2016 को शुरु की थी, जिसके बाद एक एक रुपया जोड़कर उसने अब तक 33 बच्चों की फीस जमा की है और जब तक ये बच्चें 12वी तक की शिक्षा पूरी नहीं कर लेते तब तक सीमा उनकी साल भर की फीस जमा करती रहेंगी। साथ में 12हजार से ...

4 बजे तक चला मतदान, नागपुर जिले में 53.91 % प्रतिशत मतदान

नागपुर : ग्रेजुएट वोटरों का राज्य में हो रहे पदवीधर चुनाव में काफी अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है. शाम 4 बजे तक नागपुर ज़िले में 53.91 % मतदान हुआ है. भंडारा में 57.77 %, चंद्रपुर में 54.36 %, गोंदिया में 50.80 %, गडचिरोली में 40.54 %, वर्धा में 57.59 % प्रतिशत मतदान हुआ है. कुल मिलाकर नागपुर विभाग के 6 जिलों में शाम 4 बजे तक 53.64 % मतदान दर्ज किया गया है.

शेरे मैसूर ‘टीपू सुल्‍तान’ दुनिया के पहले मिसाइल मैन का जन्म आज ही हुआ था, जानिए उनकी ख़ास बातें

18वीं सदी के मैसूर का टाइगर कहे जाने वाले टीपू सुल्तान का जन्म 20 नवंबर 1750 को कर्नाटक के बेंगलुरू के पास कोलार जिले के देवनहल्ली में हुआ था. उनका पूरा नाम सुल्तान फतेह अली खान शाहाब था. उनके पिता का नाम हैदर अली और माता का नाम फातिमा फ़क़रुन्नि’सा था. उनके पिता हैदर अली मैसूर साम्रा’ज्य के सैनापति थे जो अपनी ताकत से 1761 में मैसूर साम्राज्य के शासक बने. टीपू को मैसूर ...

मौलाना अबुल कलाम आज़ाद जयंती पर राष्ट्रीय शिक्षा दिवस।

कामठी: विदर्भ जन कल्याण मंच की ओर से स्थानीय मोहम्मद अली B.Ed कॉलेज में भारत रत्न मौलाना अबुल कलाम आजाद की 131 वीं जयंती राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के अवसर पर कामठी के रिटायर शिक्षकों को "मौलाना अबुल कलाम आजाद शैेक्षानिक २०२० अवार्ड" से सम्मानित किया गया और साथी ही "इमाम उल हिंद" पुस्तक का विमोचन हाजी अब्दुल करीम शेख मेंबर मौलाना आज़ाद फाउंडेशन नई दिल्ली के हाथों किया गया पु...

महाराष्ट्र : 16 नवंबर से धार्मिक स्थल खुलेंगे, मास्क पहनना होगा अनिवार्य

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस की वजह से पिछले कई महीनों से बंद पड़े सभी धार्मिक स्थानों राज्य सरकार ने 16 नवंबर से फिर से खोलने का फैसला किया है। जारी आदेश में महाराष्ट्र की ओर से कहा गया है कि जितने भी धार्मिक स्थल हैं वहां, लोगों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा और कोरोना को लेकर जारी सभी दिशा निर्देश का पालन करना होगा। बता दें कि लॉकडाउन के लगने के बाद से ही राज्य में ...

Covid-19: Janta Curfew on Saturday Sunday in Nagpur

Nagpur: As the Corona Virus cases surged following easing of curbs here, civic authorities on Wednesday announced a ‘Janta Curfew’ in the Second Capital of the State on Saturday and Sunday to contain the spread of the infection.

MNC Commissioner Radhakrishnan B, announced the imposition of ‘Janta Curfew’ on Saturday a...

दिल्ली में CAA-NRC के खिलाफ शाहीन बाग़ 2, फिर शुरू हो सकता है प्रदर्शन

नई दिल्ली Shaheen Bagh Protest: लॉकडाउन में ढील मिलते ही दिल्ली में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर और नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ फिर से धरना शुरू करने की तैयारी तेज हो गई है। NRC-CAA के खिलाफ प्रदर्शन लिए समर्थन जुटाने के मकसद सोशल मीडिया के साथ वाट्सऐप ग्रुप पर भेजे जा रहे संदेशों ने दिल्ली पुलिस के साथ खुफिया एजेंसियों की भी नींद उड़ा दी है। इसके चलते बुधवार सुबह दिल्...

लाक डाऊन मे खोगई ईद की खुशियां

आज पूरी दुनिया कोरोना महामारी के संकट से लड़ रही है जिसके कारण लाक डाऊन की त्रासदी से आम जनता को गुज़रना पड़ रहा है. ईद का त्यौहार खुशियों का त्यौहार है. एक महीने का रोज़ा (उपवास) रखने के बाद ईद का त्यौहार बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है. इस त्यौहार में लोग एक दूसरे से गले लग कर ईद की मुबारकबाद देते हैं. इस त्यौहार में नए परिधान, तरह तरह के पकवान बनाए जाते हैं. हर शख्स अपनी है...

सऊदी अरब में नहीं हुआ आज चांद का दीदार, अब इस दिन होगी ईद-उल-फित्र

रमजान का पाक महीना खत्म हो गया है. मुसलमानों के 29 कठिन रोजे पूरे हो गए हैं. संयुक्त अरब अमीरात, सऊदी अरब सहित खाड़ी देशों में लोग चाँद का दीदार करने को बेताब थे. आज पूरी उम्मीद थी कि आसमां की काली चादर में दमकता हुआ चांद दिखाई देगा. लोग आंख गड़ाए एक टक चांद को ढूंढते रहे लेकिन ऐसा हो ना सका. इसके बाद अब वहां रविवार (24 मई) को ईद का त्यौहार मनाया जाएगा.